Bounce Rate क्या है और इसे कम कैसे करें?

charan

एक्सपर्ट ब्लॉगर
पोस्ट
24
प्रतिक्रिया स्कोर
4
पॉइंट्स
3
हम अपनी साइट पर traffic को बढ़ाने के लिए बहुत सी तकनीकों का उपयोग करते हैं। लेकिन हम अक्सर user engagement और user behaviour जैसे महत्वपूर्ण टॉपिक को consider नहीं करते हैं। अगर आप अपनी साइट पर SEO तकनीकों का उपयोग करके search engine पर high rank और traffic पा लेते हैं पर अगर आपके users का experience अच्छा नहीं हुआ तो गूगलेजलड ही आपकी साइट की रैंक को कम कर देगा।

Bounce Rate क्या है और इसे कम कैसे करें?


अगर आपकी साइट पर रोज बहुत से visitors आते रहते हैं और वो आपकी साइट के एक पेज को visit करके ही वापिस चले जाते हैं तो इसका मतलब है आपकी एक quality साइट नहीं है। User experience और engagement आपकी साइट की rank को high करने में बहुत important role play करता है। आज इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि bounce rate क्या है और इसे कम कैसे करें।

Bounce Rate क्या है?



Bounce rate उन visitors का percentage है जो आपकी पर visit करते हैं और आपकी वेबसाइट के दूसरे पेज को visit किये बिना आपकी साइट को छोड़कर चले जाते हैं। कुछ ऐसे visitors भी होते हैं जो आपकी वेबसाइट पर visit करने के तुरंत बाद आपकी साइट को छोड़ देते हैं। यह आपके ऊपर depend करता है कि आप अपने users के engagement को साइट पर कैसे बनाये रखें।

अगर आपकी साइट का bounce rate 40% है तो इसका मतलब है कि आपकी साइट पर visit करने वाले लोगों में 40 लोग हैं जो आपके पेज के किसी दूसरे पेज पर गए बिना चले जाते हैं।

Bounce rate SEO का एक महत्वपूर्ण factor है। आपकी साइट का bounce rate साइट की सफलता को measure करने का एक बेहतरीन तरीका है। अपनी साइट पर एक अच्छा bounce rate maintain करना मुश्किल है पर नामुमकिन नहीं।

एक average साइट का bounce rate 40-60% तक होता है।

Bounce Rate को कम कैसे करें?



Bounce rate को कम करने के लिए बहुत से ऐसे तरीके हैं जिनका उपयोग करके आप अपनी साइट पर bounce रेट को कम कर सकते हैं।

Design और Load Time



आपकी साइट पर आने के बाद जो चीज आपके visitors सबसे पहले notice करेंगे वो है आपके ब्लॉग का loading time और ब्लॉग का design. कई बार ऐसा होता है कि आपकी साइट का loading tome ज्यादा होने की वजह से आपके visitors आपकी साइट को छोड़ देते हैं। आपके ब्लॉग का design भी visitors को आपकी साइट पर बनाये रखता है। इसलिए अपनी साइट के loading time और design का ख़ास ख्याल रखें।



जब कभी भी आप अपनी साइट पर किसी भी external link को add करें तो “open in a new tab” के option को enable कर दें। इससे यह होगा कि external links नए tab में खुलेंगी और आपकी साइट पर visitors के बने रहने के chances बढ़ जायेंगे।

सम्बंधित पोस्ट



सम्बंधित पोस्ट bounce rate को कम करने में बहुत मदद करती हैं। जब आपके visitors पोस्ट को पढ़ लेते हैं ज्यादा chances होते हैं कि वो उस पोस्ट से सम्बंधित अन्य पोस्ट को भी पढ़ना चाहें। अगर आपके ब्लॉग पर सम्बंधित पोस्ट की लिस्ट होती है तो यह user engagement को बढ़ाने में मदद करेगी और आपकी साइट का bounce rate कम होगा।

Internal Linking



अपने ब्लॉग पर जितना हो सके उतनी inter linking करें। आपने Wikipediaके हर पेज पर देखा कि कितनी सारी internal links होती हैं, यही links Wikipiedia के bounce rate को कम रखने में सबसे ज्यादा मदद करती हैं। साथ ही, यह Google में आपकी ranking को improve करने में भी मदद करती हैं।

Quality Content



Quality content सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। अपनी साइट पर quality content डालें, अगर आपकी साइट पर quality content होंगे तो user automatically आपकी साइट को explore करना चाहेंगे और आपकी साइट को google पर high rank मिल जाएगी।

तो दोस्तों बस इतना ही, उम्मीद है आपको यह लेख (Bounce Rate क्या है) पसंद आया होगा। अगर आपका कोई सवाल है तो आप रिप्लाई करके हमसे पूछ सकते हैं।
 

मेंबर ऑनलाइन

अभी कोई मेंबर ऑनलाइन नहीं है।

हाल की पोस्ट

फोरम के आँकड़े

टॉपिक
47
पोस्ट
61
मेंबर्स
6
हाल के मेंबर
Yogi
Top