Website के लिए Sitemap बनाने की 5 आसान Steps

vikasdangi

एडमिन
पोस्ट
37
प्रतिक्रिया स्कोर
36
पॉइंट्स
18
मैंने इस article में अपनी website का sitemap बनाने के लिए जरूरी पूरी जानकारी दी है।

जब बात आपकी website को rank कराने की आती है, तो आपको जितना हो सके उतना SEO तकनीकों का उपयोग करना होता है। Sitemap बनाना भी ऐसी ही एक तकनीक है जो निश्चित रूप से आपकी website के SEO को improve करने में मदद करेगी।

Sitemap क्या है?



आपमें से कुछ लोग दूसरों की तुलना में इससे कुछ ज्यादा परिचित हो सकते हैं। इससे पहले कि मैं आपको बताऊँ अपनी website के लिए sitemap कैसे बनायें, सबसे पहले यह होता क्या है इस बारे में जान लेते हैं।

सीधे शब्दों में कहें तो एक sitemap या XML sitemap, एक website पर मौजूद विभिन्न pages (या posts) की सूची होता है। XML का मतलब होता है “extensible markup language”, यह HTML की तरह ही एक markup language होती है जिसके जरिये website पर किसी information को दिखाया जाता है।

मैंने कई लोगों की website बनाने में मदद की है, उनमें से ज्यादातर लोगों को अपने sitemap की काफी चिंता होती थी क्योंकि sitemap को SEO के एक technical component के रूप में जाना जाता है। लेकिन सच्चाई तो यह है कि आपको एक sitemap बनाने के लिए tech expert या developer होने की जरूरत नहीं है। जैसा कि आप आगे सीखेंगे, इसे बनाना वास्तव में उतना मुश्किल नहीं है।

आपको Sitemap की जरूरत क्यों है?



Google जैसे search engine किसी भी search query के लिए सबसे अच्छा result प्रदान करने के लिए committed हैं। प्रभावी रूप से ऐसा करने के लिए, वे इंटरनेट पर जानकारी को पढ़ने, व्यवस्थित करने और index करने के लिए site crawlers का उपयोग करते हैं।

एक XML sitemap, search engine crawler के लिए आपकी website पर मौजूद content को पढ़ने और जरूरत अनुसार index करने में काफी मदद करता है। परिणामस्वरूप, इससे आपकी website की SEO ranking boost होने की संभावना बढ़ जाती है।

आपका sitemap, search engine को बताएगा कि आपकी website पर कोई भी page कहाँ मौजूद है, यह कब update हुआ, इसकी update होने की frequency क्या है और अन्य pages के मुक़ाबले इस page की importance क्या है। एक उचित sitemap के बिना, Google bots को यह लग सकता है कि आपकी साइट में duplicate content है, जिससे आपकी SEO ranking को नुकसान पहुँच सकता है।

यदि आप अपनी website को search engine में तेजी से index कराना चाहते हैं तो sitemap बनाने की इन 5 आसान steps को follow करें:

स्टेप 1: अपनी Website के Structure को समझें



सबसे पहली चीज जो आपको करने की ज़रूरत है वह है अपनी website पर मौजूदा content के location को देखना और यह देखना कि सब कुछ कैसे structure है।

नीचे दिए गए sitemap template पर एक नजर डालिये और सोचिये आपके pages इस तालिका में किस तरह प्रदर्शित होंगे।

website sitemap template


यह sitemap एक बहुत ही मूल उदाहरण है जिसका पालन करना आसान है।

यह homepage से शुरू होता है। फिर आपको अपने homepage को आधार बनाकर सोचना है कि आगे के page कहाँ-कहाँ पर हैं। जैसे आप अपनी website का menu बनाते हैं, उसी प्रकार आपको sitemap बनाना है।

लेकिन जब SEO की बात आती है, तो सभी pages की priority एक जैसी नहीं होती। आपको अपने pages बनाते समय उनके location की depth का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। आपके pages से जितने ज्यादा गहराई में होंगे, उनको rank और index कराना उतना ही मुश्किल होगा।

Search Engine Journal के अनुसार, आपको अपने pages और sitemap को बनाते समय उनके location की गहराई को जितना हो सके उतना कम रखना चाहिए, मतलब आपकी website के किसी भी page पर जाने के लिए तीन क्लिक से ज्यादा नहीं होना चाहिए। SEO के लिए यह अच्छा होता है।

इसलिए आपको अपने pages के importance के आधार पर hierarchy (अनुक्रम) बनाने की जरूरत है, और आपके जो भी pages सबसे ज्यादा important हैं, उन्हें ज्यादा priority देना है।

अपने pages को tiers के रूप में अनुक्रमित करें जो एक logical hierarchy को follow करते हों। उदाहरण के लिए मैंने नीचे एक तालिका बनाई है -

page hierarchy


जैसा कि आप देख सकते हैं, About page में Our Team और Mission & Values के pages link हैं। फिर Our Team में Management और Contact Us pages link हैं। मतलब आपको अपनी hierarchy को logical रखना है।

एक business website के लिए About page सबसे ज्यादा important होता है, इसीलिए इसे top-level navigation में शामिल किया गया है। Management page को Products, Pricing और Blogs जैसी top-level की priority देने से कोई मतलब नहीं बनता, इसलिए इसे third-level पर रखा गया है।

इसलिए अपनी पूरी website के pages का एक sitemap template बनायें, जैसा कि मैंने ऊपर बनाया है। इस दौरान आपको ध्यान रखना है कि आपका structure ऐसा हो जिसमें हर एक page पर पहुँचने के लिए ज्यादा-से-ज्यादा तीन क्लिक लगें।

स्टेप 2: अपने URLs को Code करें



चूँकि अब आपने अपने हर एक page को importance के आधार पर लिस्ट कर लिया है, अब आपको जरूरत है इन URLs को code करने की।

ऐसा करने का तरीका है हर एक page में XML tags जोड़ना। यदि आपको HTML coding का थोड़ा-बहुत भी अनुभव है तो आप इसे आसानी से कर पाएंगे। जैसा कि मैंने पहले बताया था, XML में "ML" का मतलब होता है Markup Language, जो HTML के लिए समान ही है।

यदि आपको HTML का कोई अनुभव नहीं है तब भी आप इसे आसानी से समझकर कर सकते हैं।

सबसे पहले आपको एक XML file बनाने के लिए अपने computer में text editor खोलना है। इसके लिए आप notepad का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Rich-snippets वाले text editor के लिए Sublime Tex का इस्तेमाल करें।

sublime text editor


अब नीचे दिए एक XML sitemap के उदाहरण पर ध्यान दें -

XML:
<urlset xmlns="http://www.sitemaps.org/schemas/sitemap/0.9" xmlns:xsi="http://www.w3.org/2001/XMLSchema-instance" xsi:schemaLocation="http://www.sitemaps.org/schemas/sitemap/0.9 http://www.sitemaps.org/schemas/sitemap/0.9/sitemap.xsd">
<url>
<loc>https://www.blogmanch.com/</loc>
<lastmod>2020-02-06T07:02:57+00:00</lastmod>
<changefrequ>daily</changefrequ>
<priority>1.00</priority>
</url>
<url>
<loc>https://www.blogmanch.com/members/</loc>
<lastmod>2020-02-06T07:02:59+00:00</lastmod>
<changefrequ>weekly</changefrequ>
<priority>0.80</priority>
</url>
सबसे पहली लाइन में आपको XML version आदि डालना, जैसे कि मैंने डाला है।

अगली लाइन से आपको <url> और </url> के बीच हर एक URL के सेट बनाने हैं, जिसमें उसकी निम्न जानकारी होना चाहिए -
  1. location (url का address)
  2. last changed (आखिरी बार page के content में बदलाव कब हुआ)
  3. changed frequency (बदलाव की frequency क्या है)
  4. priority of page (अन्य pages के मुक़ाबले इस)
अपना पूरा समय लें और सुनिश्चित करें कि आप इसे ठीक से implement कर रहे हैं या नहीं।

स्टेप 3: Code की जाँच करें



जब भी हम manually coding करते हैं तो उसमें थोड़ी-बहुत गलतियाँ हो जाना सामान्य है। लेकिन, आपके sitemap को ठीक से काम करने के लिए, आपकी coding में कोई गलती नहीं होनी चाहिए।

सौभाग्य से, ऑनलाइन ऐसे कई tools मौजूद हैं जो आपके code के syntax की जाँच करने में मदद करेंगे। आप Google पर "sitemap validation" टाइप करने इन्हें search कर सकते हैं।

मैं XML Sitemap Validator tool का उपयोग करता हूँ।

xml sitemap generator


यह आपके code में मौजूद किसी भी error को बता देगा।

उदाहरण के लिए, यदि आप एक end tag या ऐसा कुछ जोड़ना भूल जाते हैं, तो यह इसे पहचानकर ठीक कर देगा।

स्टेप 4: अपने Sitemap को Root Folder और robots.txt File में जोड़ें



अपनी website के root folder (main folder) का पता लगाएँ और इसमें sitemap file को upload कर दें।

ऐसा करने से आपकी website पर sitemap page जुड़ जायेगा। यदि आपने sitemap.xml नाम से file को upload किया तो इसका URL होगा -
Code:
www.mywebsite.com/sitemap.xml
उदाहरण के लिए HubSpot website के sitemap को देखते हैं।

hubspot sitemap


अपने root folder में sitemap file जोड़ने के अलावा, आप इसे robots.txt फ़ाइल में भी डाल सकते हैं। आप इसे मूल फ़ोल्डर में भी पाएंगे।

कोई भी search engine crawler सबसे पहले आपकी website की robots.txt फाइल ही देखता है, ताकि उसे निर्देश मिल सकें उसे आपकी वेबसाइट की किस-किस जगह को index करना है और किसको नहीं। इसलिए robots.txt file में सबसे नीचे अपने sitemap का URL डालकर आप सीधे इसके बारे में search engine को बता सकते हैं।

उदाहरण के लिए आप इस website की robots.txt file देख सकते हैं - https://www.blogmanch.com/robots.txt

robots.txt file


चूँकि robots.txt file में sitemap डालना जरूरी नहीं है, और कुछ SEO experts यह भी कह सकते हैं कि इसका कोई फायदा नहीं। इसलिए इसे डालना है या नहीं यह निर्णय मैं आपपर छोड़ता हूँ।

हालाँकि SEO काफी जटिल और विवादास्पद विषय है, इसलिए मैं विभिन्न सफल websites और businesses द्वारा उपयोग की गई तकनीकों को follow करने में विश्वास करता हैं। यदि Apple जैसी बड़ी कंपनियाँ अपनी अपनी robot file में sitemap को डालती हैं, तो हमें भी करने में कोई बुराई नहीं।

स्टेप 5: Search Engine में Sitemap को Submit करें



चूँकि अब आपका sitemap बनकर तैयार है और website में upload हो चुका है। तो अब बारी है इसे search engine's में submit करने की।

Google पर sitemap submit करने के लिए आपको सबसे पहले Google Search Console में जाना होगा और इसमें अपनी website को खोलना होगा। इसके बाद left-side के menu में से "Sitemaps" को सेलेक्ट करें।

Google Search Console में Sitemaps को सेलेक्ट करें


इस बाद जो नया page खुलेगा उसमें "Add a new sitemap" के नीचे मौजूद खाली डिब्बे में अपना sitemap का URL डालें और "Submit" बटन दबा दें।

Google Search Console में Sitemap को Submit करें


अब आपका sitemap Google पर submit हो चुका है और जल्द ही आपकी website के pages index होने लगेंगे।

Alternative options



हालांकि यह पाँच स्टेप्स बहुत ही आसान हैं, लेकिन आप में से कुछ अपनी वेबसाइट पर code को manual रूप से बदलने में थोड़ा असहज महसूस कर रहे होंगे। मैं आपकी परेशानी को समझता हूँ। सौभाग्य से, आपके लिए बहुत सारे अन्य automatic tools भी मौजूद हैं, जो बिना किसी coding के आपके लिए sitemap तैयार कर सकते हैं।

मैं इनमें से कुछ top tools के बारे में आपको बताऊँगा -

Yoast plugin



यदि आपने अपनी website को WordPress software के जरिये बनाया है तो इसपर एक sitemap बनाने के लिए आप Yoast plugin को install कर सकते हैं।

Yoast आपको एक सरल toggle switch के जरिये sitemap को on या off करने की सुविधा देता है। एक बार plugin install हो जाने के बाद WordPress menu के SEO tab में आप इसके सभी options देख सकते हैं।

Screaming Frog



Screaming Frog एक desktop software है जो बहुत प्रकार के SEO tools प्रदान करता है। इसका उपयोग करके अपनी website के sitemap बनाना बिलकुल फ्री है, जब तक कि आपके pages की संख्या 500 से कम हो। जिनकी website बहुत बड़ी और उसमें 500 से ज्यादा pages हैं, उन्हें paid version खरीदना होगा।

Screen Frog के जरिये आप बिना किसी coding ज्ञान के एक sitemap बना सकते हैं। इसके options को उपयोग करना काफी आसान है और इसमें काफी सरल English का उपयोग किया गया है। आप अपने sitemap को कैसा बनाना चाहते हैं और उसमें कौन-कौन से tags डालना चाहते हैं, यह सारी सुविधा Screaming Frog में उपलब्ध है। मैं क्या कहना चाहता हूँ इसे समझने के लिए यह screenshot देखें जिसमें sitemap बनाने के options दिए हैं -

screaming frog configuration


आपको बस tabs में navigate करके अपनी settings चुनना है और आपका sitemap अपनेआप तैयार हो जायेगा।

Slickplan



मुझे Slickplan काफी पसंद है क्योंकि इसमें visual sitemap builder की सुविधा है। इसमें आपको sitemap template इस्तेमाल करने का भी मौका मिलेगा। Sitemap template में sitemap अन्य pages की तरह normal look का होता है।

इसमें आप drag and drop के जरिये अपने pages को sitemap template डाल सकते हैं और व्यवस्थित कर सकते हैं। एक बार काम पूरा हो जाने के बाद, आपको अपने sitemap का look काफी पसंद आएगा। इसके बाद आप अपने sitemap को XML फाइल के रूप में निर्यात कर सकते हैं।

Slickplan एक paid software है, लेकिन वह इसका free trial भी प्रदान करते हैं। यदि आप किसी SEO service को खरीदने की सोच रहे हैं तो इसे try करके देख सकते हैं।

निष्कर्ष



यदि आप अपनी website के SEO को अगले लेवल तक ले जाना चाहते हैं तो आपका sitemap होना जरूरी है।

इसे न बना पाने का कोई कारण नहीं है। जैसा कि आप इस गाइड में देख सकते हैं, केवल पाँच steps में आसानी से sitemap बनाया जा सकता है।
  1. अपनी Website के Structure को समझें
  2. अपने URLs को Code करें
  3. Code की जाँच करें
  4. अपने Sitemap को Root Folder और robots.txt File में जोड़ें
  5. Search Engine में Sitemap को Submit करें
बस इतना ही!

आप में से जो अभी भी manually अपने sitemap को बनाने में हिचकिचा रहे हैं, वो अन्य automatic तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इंटरनेट sitemap बनाने के तरीकों से भरा पड़ा है, लेकिन Yoast plugin, Screaming Frog, और Slickplan, शुरुआत करने के लिए काफी अच्छे विकल्प हैं।
 
टॉपिक शुरू करने वाला सम्बंधित टॉपिक फोरम रिप्लाई तारीख
charan WordPress 0
charan WordPress 0
vikasdangi जनरल ब्लॉगिंग 1

मेंबर ऑनलाइन

अभी कोई मेंबर ऑनलाइन नहीं है।

हाल की पोस्ट

फोरम के आँकड़े

टॉपिक
47
पोस्ट
61
मेंबर्स
6
हाल के मेंबर
Yogi
Top